उत्तर प्रदेश सरकार राज्य के श्रमिको और महिला मजदूरो की बेटियों के विवाह हेतु रुपये 55,000 से लेकर 61,000 तक की वित्तीय सहायता कन्या विवाह सहायता योजना के तहत दे रही है l

कन्या विवाह सहायता योजना के तहत सरकार द्वारा श्रम विभाग, उत्तर प्रदेश के साथ पंजीकृत श्रमिक या महिला मजदूर के पुत्रियों की शादी पर अनुदान दे रही है l

इस योजना का लाभ केवल वह श्रमिक ले सकते है जो श्रम विभाग, उत्तर प्रदेश बोर्ड के साथ कम से कम 1 वर्ष से अधिक समय तक पंजीकृत रहे है l

श्रमिक मजदूर को इस योजना का लाभ लेने के लिए बेटी की शादी के तिथि से 1 वर्ष के अन्दर आवश्यक दस्तावेज के साथ श्रम विभाग, उत्तर प्रदेश की अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा l

उत्तर प्रदेश सरकार की इस योजना का लाभ तभी प्राप्त होगा जब श्रमिक के पुत्री की आयु 18 और वर की आयु 21 वर्ष से अधिक होगी l

आवेदन के लिए लाभार्थी के पास वर-वधु का जन्म प्रमाण पत्र, शादी कार्ड ग्राम पंचायत से प्रमाणित, राशन कार्ड, वर-वधु का स्व-प्रमाणित फोटो इत्यादि दस्तावेज होना आवश्यक है l

ऐसा श्रमिक जो अपने पुत्री की अंतरजातिय विवाह करता है तो उसे सरकार द्वारा कन्या विवाह सहायता योजना के अंतर्गत 61,000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान किया जा रही है l

इस योजना के माध्यम से प्रदेश में लडकियों को अंध विश्वास, बाल विवाह और अन्य सामाजिक कुरीतियों से छुटकारा मिल रहा है l

उत्तर प्रदेश सरकार की कन्या विवाह सहायता योजना के विषय में विस्तृत जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर अवश्य क्लिक करे l