OPS के तहत केंद्र/राज्य सरकार के अधीन सेवा देने वाले सरकारी कर्मचारियो की सेवानिवृत्ति के बाद अंतिम वेतन का 50% राशि कर्मी को पेंशन के रूप में आजीवन मिलती थी, जो NPS में नहीं है l

पुरानी पेंशन स्कीम के तहत सरकार द्वारा कर्मी के सैलरी से किसी भी प्रकार की कटौती नहीं की जाती थी किन्तु न्यू पेंशन स्कीम के तहत कर्मी के वेतन का 10% राशि कटौती की जाती है l

पुरानी पेंशन स्कीम के तहत केंद्र और राज्य कर्मचारियों को GPF की सुविधा मिलती थी परन्तु NPS में कोई फण्ड की सुविधा नहीं है l

इस योजना में सरकार की कोष से कर्मचारी को पेंशन दिया जाता था जबकि NPS शेयर मार्केट आधारित पेंशन स्कीम है l

OPS में कर्मचारी की पेंशन राशि प्रत्येक 6 महीने के बाद महगाई भत्ते के साथ बढ़ती थी जबकि NPS में महगाई भत्ता बढ़ोत्तरी का कोई प्रावधान नहीं है पूर्णतया शेयर बाजार पर निर्भर है, जो जोखिम भरा है l

NPS के तहत कर्मचारी को कितना पेंशन राशि प्राप्त होगा यह निश्चित नहीं है, जो कर्मी के लिए जोखिम भरा है l

पुरानी पेंशन स्कीम के अंतर्गत कर्मी की मृत्यु के बाद प्राप्त पेंशन की आधी राशि उसके पति/पत्नी को सरकार द्वारा जीवन भर दिया जाता था, जो NPS में नहीं है l

पुरानी पेंशन स्कीम VS न्यू पेंशन स्कीम के विषय में विस्तृत जानकारी हेतु नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर देख सकते है l