उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने प्रदेश में गायो की सुरक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए यूपी गोशाला योजना लांच किया है l

इस योजना के तहत सरकार गोशाला/पशुपालन उद्योग की शुरुआत करने के लिए पशुपालको की आर्थिक मदद कर रही है l

योगी सरकार प्रदेश में गोशाला अधिनियम 1964 के धारा 4 के तहत अब तक 498 गोशाला को संचालित कर रही है, जिसे “गोशाला एक धर्मार्थ संस्था” के नाम से जानते है l

यूपी गोशाला योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी को यूपी राज्य गोशाला पंजीकरण प्रणाली की अधिकारिक वेबसाइट ahgosalareg.up.gov.in के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन करना होगा l

योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए l साथ ही इस योजना के लिए वर्तमान में संचालित और बंद गोशाला ही आवेदन कर सकते है

इस योजना के सुचारू रूप से चालू होने से उत्तर प्रदेश में रोजगार के नए अवसर प्राप्त होंगे और बेरोजगारी में कमी आयेगी l

जब लोग पशुपालन उद्योग को स्थापित करेंगे तो राज्य में दुग्ध उत्पादन में वृद्धि होगी और पशुपालको की आमदनी बढेगी l

गोशाला योजना के माध्यम से गोशाला में प्रजनन से उन्नतशील किस्म के नए नए दुधारू गायो को उत्पन्न किया जा सकता है l

सरकार की मंजूरी के बाद गोशालाओ में गायो और बैलो के पालन पोषण हेतु कुशल लेटेस्ट तकनिकी का प्रयोग किया जायेगा l

उत्तर प्रदेश सरकार की गोशाला योजना के विषय में अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर अवश्य क्लिक करे l