Telegram Channel Join Now
Facebook Channel Join Now

Zero Budget Natural Farming | ZBNF in India 2024

Zero Budget Natural Farming देशी गायों द्वारा उत्पादित किये गए गौमूत्र, गोबर पर आधारित एक प्रकार की प्राकृतिक खेती है l सभी कृषक नेचुरल खेती के लिए गौमूत्र और गोबर को अपने घर पर ही किसान द्वारा गायों की मदद से तैयार करते है, कोई भी मटेरियल बाजार के क्रय नहीं किया जाता है l क्योंकि इस खेती के लिए सीधे तौर पर किसान को धन नहीं खर्च करना पड़ता है, इसलिए इसे Zero Budget Natural Farming कहा जाता है l

Zero Budget Natural Farming

शून्य बजट आधारित कृषि के अंतर्गत वर्तमान में रासायनिक उर्वरकों, कीटनाशकों और सिंचाई के अंधाधुंध प्रयोग को कम किया जा रहा है l इस योजना के तहत कृषि में लगने वाले पूंजी की लागत को कम करना है और कृषि उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार कर प्रति एकड़ उत्पाद को बढ़ाना है l Zero Budget Natural Farming में बीजो के ईलाज हेतु बीजामृत, द्रवजीवामृत एवं घनजीवामृत इत्यादि का उपयोग किया जाता है l इसके अलावा पोषण और कीटो के रोकथाम हयूत निमास्त्र, ब्रह्मास्त्र एवं एग्रेस्ट्रा का यूज किया जाता है l

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Zero Budget Natural Farming के विषय में सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे योजना के लिए आवेदन कैसे करे?, लाभ, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, हेल्पलाइन नंबर इत्यादि उपलब्ध कराएँगे l जिसके लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ना होगा l

राजस्थान मुख्यमंत्री विश्व कर्मा पेंशन योजना  2024

Zero Budget Natural Farming Kya Hai

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के द्वारा हाल ही में संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (United Nations Conference on Desertification, COP-14) संबोधित करते हुए मरुस्थलीकरण पर वैश्विक समुदाय को बताया कि भारत ज़ीरो बजट नेचुरल फार्मिंग (Zero Budget Natural Farming-ZBNF) की ओर अब ध्यान केन्द्रित कर रहा है l शून्य बजट प्राकृतिक कृषि के अंतर्गत किसानो द्वारा खेती करने के लिए किसी भी तरह का रासायनिक उर्वरक का उपयोग नहीं करते है l वह शत-प्रतिशत प्राकृतिक गाय के गोबर और गौमूत्र का प्रयोग खेती के लिए करते है l

विद्या संबल योजना राजस्थान 2024: ऑनलाइन आवेदन

Zero Budget Natural Farming 2024 के बारे में जानकारी

योजना का नामZero Budget Natural Farming
शुरुकर्ताराजस्थान सरकार द्वारा
लाभार्थीराज्य के सभी किसान
उद्देश्यखेती करने के लिए प्राकृतिक उर्वरक और देशी बीजों का प्रयोग करना
राज्यराजस्थान
वर्ष2024
आवेदन प्रक्रियाऑफलाइन
अधिकारिक वेबसाइटजल्द लांच होगी

Principles of Zero Budget Natural Farming (उद्देश्य)

राजस्थान सरकार द्वारा जीरो बजट नेचुरल फार्मिंग शुरू करने का प्रमुख उद्देश्य प्रदेश में किसानों को खेती करने के लिए प्राकृतिक उर्वरक जैसे गोबर, गोमूत्र, सनई, डैचा इत्यादि का प्रयोग करना है l इसके अलावा 365 दिनों तक मिटटी की जड़ो को ढकने वाली फसल को लगाकर मिटटी की गड़बड़ी को कम करना है l मिश्रित खेती के लिए देशी बीजों का उपयोग करना है l

Benefits of Zero Budget Natural Farming (शून्य बजट प्राकृतिक कृषि के लाभ)

  • इस योजना के अंतर्गत खेती करने से ऊपज में सुधार होगा l
  • Zero Budget Natural Farming के माध्यम से किसानो को खेती करने के लिए 50% तक की सब्सिडी प्रदान की जाती है l
  • Zero Budget Natural Farming के माध्यम से जलवायु-सहिष्णु प्राकृतिक कृषि पद्धतियों बढ़ावा देकर भूमि की उर्वरा शक्ति को बनाये रखना है l
  • शून्य बजट प्राकृतिक खेती के अंतर्गत किसानों की आय में वृद्धि करना प्रमुख लक्ष्य है l
  • इस खेती के द्वारा राज्य के नागरिकों को स्वास्थ्य और कल्याण के लिए रसायन मुक्त और पौष्टिक आहार प्राप्त होगा l
  • जीरो बजट नेचुरल फार्मिंग के तहत जैव-विविधता और पर्यावरण की सुरक्षा होती है l
  • इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा किसानों को समूहों में विकसित कर उनके उत्पादन एवं प्रगति के लिए सशक्त बनाना है l
  • मार्केटिंग के जरिये सीधे राष्ट्रीय बाजार से जुड़कर उद्यमियों को किसान बनाना है l
  • इस योजना के तहत कृषि उपकरण और बीज इत्यादि के खरीददारी पर सरकार द्वारा 50% की छुट प्रदान की जाती है l
  • Zero Budget Natural Farming करने के लिए सरकार द्वारा किसानों को प्रशिक्षण दिया जायेगा l
  • यह प्रशिक्षण ग्राम पंचायत स्तर का भी हो सकता है l

राजस्थान आपकी बेटी योजना 2024

Zero Budget Natural Farming के लिए पात्रता

  • इस योजना का लाभ राजस्थान के मूल निवासी किसान को दिया जायेगा l
  • इस योजना के तहत ऐसे किसानों का चयन किया जायेगा जिनकी प्राकृतिक खेती में विशेष रूचि रहती है l साथ ही हर किसान के पास कम से कम एक एकड़ भूमि का स्वामित्व होना चाहिए l
  • लाभार्थी किसान एक ही गाँव या पड़ोस गाँव के अथवा अलग-अलग गाँव के हो सकते सकते है l
  • Zero Budget Natural Farming करने वाले किसानों का चयन क्षेत्रीय सहायक कृषि अधिकारी/कृषि पर्यवेक्षक द्वारा किया जाता है l
  • प्राकृतिक खेती के अंतर्गत बागवानी फसलों और पशुपालन को भी शामिल किया गया है l
  • Zero Budget Natural Farming के लिए अनुसूचित, अनुसूचित जन जाति, लघु और सीमांत किसानों को वरीयता प्रदान की जाएगी l प्राकृतिक खेती करने के लिए 35 वर्ष तक के किसानों को सामिल किया जायेगा l
  • परम्परागत कृषि विकास योजना के अंतर्गत चयनित किये गए किसान इस योजना के लिए पात्र नहीं है l

Zero Budget Natural Farming हेतु आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक
  • भूमि का दस्तावेज
  • मोबाइल नंबर

Zero Budget Natural Farming आवेदन प्रक्रिया

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी कृषि विभाग कार्यालय जाना होगा l
  • अब आपको कार्यालय से योजना का आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा l
  • आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करनी होगी l
  • जिसके पश्चात आपको सभी अनिवार्य दस्तावेज संलग्न करना होगा l
  • आवेदन फॉर्म पूर्ण रूप से भरने के बाद परिक्षण करना होगा l
  • अब आपको कार्यालय में जमा करना होगा l
  • आपके आवेदन फॉर्म का सत्यापन सक्षम अधिकारी द्वारा किया जायेगा l
  • आवेदन सही पाए जाने की स्थिति में आपको इस योजना का लाभ प्रदान कर दिया जायेगा l

महत्वपूर्ण प्रश्न

प्रश्न :- जीरो बजट नेचुरल फॉर्मिंग योजना क्या है?

उत्तर :- राजस्थान सरकार द्वारा प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए वर्ष 2020-21 में इस योजना की शुरुआत किया है l

प्रश्न :- इस योजना से क्या लाभ है ?

उत्तर :- इस योजना के अंतर्गत किसानों को खेती के लिए उपकरण और बीज पर सब्सिडी प्रदान करती है l

प्रश्न :- योजना का लाभ किसे प्राप्त हो सकता है ?

उत्तर :- इस योजना के तहत प्राकृतिक खेती करने वाले इच्छुक किसानो को लाभ प्रदान किया जाता है l

प्रश्न :- Zero Budget Natural Farming के लिए कितनी भूमि होनी चाहिए l

उत्तर :- इस खेती के लिए कम से कम एक एकड़ जमीन होना चाहिए l

प्रश्न :- इसके लिए कौन-कौन दस्तावेज लगेंगे ?

उत्तर :- आधार कार्ड, बैंक पासबुक, भूमि का कागजात इत्यादि

Leave a comment